DELHI में बवाल पर अबतक 15 FIR, CCTV फुटेज से हुड़दंगियों की पहचान करने में जुटी पुलिस / delhi 2021

DELHI में बवाल पर अबतक 15 FIR, CCTV फुटेज से हुड़दंगियों की पहचान करने में जुटी पुलिस / delhi 2021

SUPPORT FARMERS DELHI

गणतंत्र दिवस के मौके पर राजधानी दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान जमकर उपद्रव हुआ. हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली में घुसे, कई जगहों पर पुलिस के साथ भिड़ंत हुई और ITO, लालकिले जैसे इलाके में बवाल भी हुआ. प्रदर्शनकारियों ने लालकिले पर जाकर निशान साहिब का झंडा भी फहराया. बीते दिन के बवाल के बाद दिल्ली के कुछ हिस्सों में इंटरनेट बंद है, पुलिस दोषियों को ढूंढने में लगी है. आज के बड़े अपडेट के लिए ब्लॉग के साथ बने रहें…

farmer
SUPPORT FARMERS

WELCOME EVERYONE

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया है और इसकी निंदा की है. मायावती ने लिखा कि देश की राजधानी दिल्ली में कल गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की हुई ट्रैक्टर रैली के दौरान जो कुछ भी हुआ, वह कतई भी नहीं होना चाहिए था. यह अति-दुर्भाग्यपूर्ण तथा केन्द्र की सरकार को भी इसे अति-गंभीरता से ज़रूर लेना चाहिए. साथ ही, बी.एस.पी. की केन्द्र सरकार से पुनः यह अपील है कि वह तीनों कृषि कानूनों को अविलम्ब वापिस लेकर किसानों के लम्बे अरसे से चल रहे आन्दोलन को खत्म करे ताकि आगे फिर से ऐसी कोई अनहोनी घटना कहीं भी न हो सके.

इस बीच दिल्ली में आज भी चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है. लालकिले से लेकर इंडिया गेट, आईटीओ और अन्य कई इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा तैनात की गई है.  

दिल्ली पुलिस अब जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकालकर प्रदर्शनकारियों की पहचान करने में जुटी है. लालकिले, नांगलोई, मुकरबा चौक, सेंट्रल दिल्ली में सीसीटीवी कैमरों से फुटेज निकालने के लिए स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच की मदद भी ली जा रही है.
इसमें पुलिस पर हमला करने वालों, लालकिले पर चढ़ने वालों, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों पर पुलिस की नजरें हैं. साथ ही उन किसान नेताओं की पहचान भी की जा रही है जिन्होंने आंदोलनकारियों को निर्धारित रूट से अलग सेंट्रल दिल्ली में जाने के लिए भड़काया.

देश की राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर जो हिंसा हुई अब उसको लेकर दिल्ली पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. दिल्ली के कई इलाकों में तांडव करने वाले प्रदर्शनकारियों को पुलिस तलाश रही है. इसी में एक नाम सामने आया है, गैंगस्टर लक्खा सिंह सिधाना का. आरोप है कि लक्खा सिधाना और उसके साथियों की सेंट्रल दिल्ली में हुए बवाल में भूमिका है. अब इसी की दिल्ली पुलिस जांच कर रही है. 

दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर पुलिस ने अबतक कुल 15 एफआईआर दर्ज कर ली हैं. पुलिस का कहना है कि जैसे-जैसे मामले सामने आ रहे हैं, शिकायतें मिल रही हैं और भी एफआईआर दर्ज की जाएंगी.

मंगलवार के बवाल के बाद गृह मंत्रालय ने दिल्ली के कुछ इलाकों में इंटरनेट बंद करवाया. उसके बाद पुलिस ने भी आंदोलनकारियों पर एक्शन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया. हालांकि, संयुक्त किसान मोर्चा का कहना है कि उनका हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है, ट्रैक्टर रैली में उपद्रवी घुस गए थे जिन्होंने पूरा बवाल काटा है. 

अब आज सुबह करीब नौ बजे किसान नेता फिर चर्चा करेंगे और आंदोलन की आगे की रूप-रेखा तय होगी. बीती रात को ही काफी प्रदर्शनकारी अपने पुराने धरना स्थल पर लौट आए, गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर पर देर रात को फिर प्रदर्शनकारियों का जमावड़ा हुआ.

बीते दिन ट्रैक्टर रैली के लिए जो रूट और वक्त तय हुआ था, उससे पहले ही प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली में कूच कर दिया. गाजीपुर बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर, नांगलोई समेत दिल्ली के कई इलाकों में हुड़दंग हुआ. पुलिस ने लाठीचार्ज किया, आंसूगैस के गोले दागे तो वहीं प्रदर्शनकारियों ने ट्रैक्टर के जरिए हमला किया, तोड़फोड़ की गई. दिल्ली पुलिस के मुताबिक, इस पूरे बवाल में कुल 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, सभी का इलाज जारी है. 

EARN MONEY WITH AFFLIATE MARKETING WITH BALLEBAAZI

Dream11
https://ballebaazi.app.link/refer?refercode=6LZ8UB5I

USE REFFERAL CODE : 6LZ8UB5I

THANK YOU FOR VISTING

Leave a Reply